ताजा ख़बरेंदेशराजनीतिराज्य

केसीआर परिवार के शासन के खिलाफ लड़ना चाहते हैं लोग, बोले राज्यमंत्री किशन रेड्डी

आप सबको ज्ञात हो कि कुछ दिन पहले तेलंगाना के पूर्व मंत्री एटाला राजेन्द्र ने अपने इस्तीफा को विधायक के रूप में सौंपा था। साथ ही, ऐसी भी आशंका जताई जा रही थी की एटाला राजेन्द्र काफी समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में भी हैं। यहाँ तक की उन्होंने राजधानी में उन नेताओं से मुलाक़त भी की थी। अब एटाला राजेन्द्र टीआरएस को छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए हैं।

पूर्व मंत्री एटाला राजेंद्र के टीआरएस से भाजपा में शामिल हो जाने के बाद, राज्यमंत्री किशन रेड्डी ने बीते दिन सोमवार को बोला कि लोग तेलंगाना के मुख्यमंत्री कल्वाकुंतला चंद्रशेखर राव(केसीआर) परिवार के शासन के खिलाफ लड़ना चाहते हैं। उन्होंने बोला, एटाला राजेंद्र का उन सभी 31 जिलों का दौरा करने का कार्यक्रम है, जहां नई जॉइनिंग की जाएगी।

मंत्री किशन रेड्डी ने एएनआइ से बातचीत के दौरान बताया, ‘लोग केसीआर परिवार के शासन के खिलाफ लड़ना चाहते हैं। तेलंगाना के पूर्व मंत्री एटाला राजेंद्र का भाजपा में शामिल होना अभी तो बस एक शुरुआत है, अभी और भी शामिल होंगे। राजेंद्र उन सभी 31 जिलों का दौरा करेंगे जहां नई ज्वाइनिंग की जाएगी।’

राजेंद्र सोमवार को दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में केंद्रीय मंत्रियों धर्मेंद्र प्रधान और जी किशन रेड्डी की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए। उन्होंने शनिवार को तेलंगाना विधानसभा के अध्यक्ष पोचाराम श्रीनिवास रेड्डी को विधायक के रूप में अपना इस्तीफा सौंप दिया था।

पूर्व मंत्री एटाला राजेंद्र ने 4 जून को इस बात का हवाला देते हुए टीआरएस से दे दिया था कि उनका पार्टी के साथ काफी मतभेद चल रहा है। जिसकी वजह से वह इस्तीफा देना चाहते हैं। पिछले महीने जमीन हड़पने के आरोप में उन्हें राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के पद से निलंबित कर दिया गया था।

Related Articles

Back to top button
Close
Close