अंतर्राष्ट्रीयताजा ख़बरेंराष्ट्रीय

कोरोना महामारी के चलते सभी अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर लगी रोक को 30 जून तक बढ़ाया गया

कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए सभी अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान जिन पर रोक लगाई गई थी। उस रोक को बढ़ाकर आगे की तारीख 30 जून तक के लिए कर दिया गया है। विमानन नियामक DGCA ने खुद शुक्रवार को इस बात की जानकारी दी है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय यानी DGCA ने अपने आधिकारिक बयान में बताया कि सक्षम प्राधिकरण हर मामले पर गौर करते हुए चयनित मार्गों पर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को अनुमति दे सकते हैं।

 

जैसा कि आप सभी को मालूम है कि देश में कोरोना महामारी के चलते 23 मार्च 2020 से सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को निलंबित कर दिया गया था। हालांकि बाद में मई 2020 से वंदे भारत अभियान और जुलाई 2020 से चयनित देशों के बीच द्विपक्षीय एयर बबल व्यवस्था के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें संचालित होती रही हैं। केंद्र सरकार ने अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, केन्या, भूटान और फ्रांस समेत 27 अन्य देशों के साथ एयर बबल समझौते किए हैं।

बता दें कि एयर बबल समझौते के तहत दो देशों के बीच विशेष अंतरराष्ट्रीय विमान अपने क्षेत्रों के बीच उड़ान भर सकते हैं। हालांकि DGCA द्वारा शुक्रवार को जारी अपने आधिकारिक बयान में यह भी बताया है कि निलंबन का असर अंतरराष्ट्रीय मालवाहक अभियानों और उसके द्वारा मंजूरी प्राप्त उड़ानों पर नहीं पड़ेगा। गौर करने वाली बात है कि अंतरराष्ट्रीय यात्री विमानों पर निलंबन को लेकर यह फैसला कोरोना की दूसरी लहर के बीच आया है।

हाल ही में DGCA की ओर से यात्रियों के लिए जारी एक सर्कुलर में स्पष्ट किया गया था कि यात्रियों को एयरपोर्ट में दाखिल होने के बाद से लेकर निकलने तक मास्क पहनना अनिवार्य होगा। इसमें यह भी स्पष्ट किया गया है कि हवाई यात्रा के दौरान यात्रियों को शारीरिक दूरी और कोरोना गाइडलाइंस का पूरा पालन करना होगा। नियमों को तोड़ने पर आपको प्‍लेन से उतार दिया जाएगा। यही नहीं बार-बार नियमों का उल्लंघन करने वालों को ‘उपद्रवी यात्री’ करार दे दिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
Close
Close