ताजा ख़बरेंदेशराजनीति

मंत्री पर हुए कथित हमले को लेकर IPFT ने त्रिपुरा के TTAADC क्षेत्र में किया हड़ताल

अगरतला : सत्तारूढ़ भाजपा नीत गठबंधन के एक घटक इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (IPFT) ने अपने अध्यक्ष पर हुए कथित हमले के विरोध में त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद (TTAADC) के क्षेत्र में 24 घंटे की हड़ताल कर दी है। इसके अध्यक्ष और मंत्री एनसी देबबर्मा हैं।

पुलिस के मुताबिक राजस्व मंत्री देबबर्मा पर गुरुवार को राज्य की राजधानी से लगभग 25 किलोमीटर दूर स्थित बेलबाड़ी में तिप्राहा स्वदेशी प्रगतिशील क्षेत्रीय गठबंधन (TIPRA) के समर्थकों द्वारा कथित तौर पर हमला किया गया था।

TIPRA, एक नवगठित आदिवासी पार्टी है जो हाल ही में संपन्न हुए 30-सदस्यीय TTAADC के चुनावों में जीत हासिल की है।

राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थान गर्मी की छुट्टी के कारण बंद चल रहीं हैं, जबकि सरकारी कार्यालय बंद हैं क्योंकि यह महीने का चौथा शनिवार है। अधिकारियों ने बताया कि कोविड ​​​​-19 मामलों में वृद्धि होने के कारण सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के कारण निजी वाहन सड़क से दूर थे।

जिन माल और परिवहन वाहनों को स्थानीय क्षेत्रों में जाने की अनुमति दी गई थी, वे सड़क पर थे। उन्होंने बताया कि ज्यादातर दुकानें जो पाबंदियों के दायरे में नहीं थीं, वो सारी खुली रहीं हैं।

शाम को 6 बजे से रात का कर्फ्यू चालू हो जाता है, इसलिए शाम को सभी दुकानें बंद थीं।

अधिकारियों ने बताया कि पश्चिम त्रिपुरा जिले के मंडई और खुमुलवुंग इलाकों में लगभग 20 हड़ताल समर्थक धरना दे रहे थे, जो पुलिस द्वारा किये गये अनुरोध पर घर लौट आए।

पुलिस ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में रहने के लिए कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं।

TTAADC क्षेत्र राज्य क्षेत्र के दो-तिहाई हिस्से का गठन करता है और राज्य के सभी आठ जिलों में पूरी तरह से फैला हुआ है। यह आदिवासियों का भी घर है, जो राज्य की अनुमानित 40 लाख आबादी का एक तिहाई हिस्सा हैं।

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close